भिलाई : कलेक्टर और महापौर देवेन्द यादव ने किया शहीद स्मार्क पार्क का निरीक्षण…12 को CM करेंगे लोकार्पण…

Share

भिलाई। कलेक्टर डॉ. सर्वेश्वर नरेंद्र भूरे और भिलाई नगर विधायक व महापौर  देवेन्द यादव रविवार सुबह सेक्टर पांच स्थित निर्माणाधीन शहीद पार्क पहुंचे। महापौर श्री यादव ने निर्माणाधीन पार्क के डिजाइन, लेआउट और पार्क बनाने के कांसेप्ट के बारे में बताया। जिसे जानने के बाद कलेक्टर डॉ श्री भूरे  ने कहा कि यह प्रोजेक्ट बहुत शानदार है और आने वाले समय में सेंटर आफ अट्रैक्शन होगा। इसे और अधिक सुंदर और गुणवत्तापूर्वक बनाने जो भी सुझाव आएंगे उन्हें अमल में लाया जाएगा। इस मौके पर निगम कमिश्नर ऋतुराज रघुवंशी भी उपस्थित रहे। उन्होंने कहा कि इसके लिए पूरी तैयारी कल ली गई है। सरोवर बन कर तैयार हो गया है।
सरोवर के बगल से शहीद सरदार भगत सिंह की 25 फीट की गनमेटल की मूर्ति होगी और थोड़ी दूर पर 100 फीट का तिरंगा लहरायेगा। तालाब में म्यूजिकल फाउंटेन है। कलेक्टर ने कहा कि यह इतना सुंदर है और इतनी खूबसूरती से बनाया जा रहा है कि यह शहर के आकर्षण का केंद्र होगा। उन्होंने कहा कि हैदराबाद में हुसैन सागर झील में स्थित लुंबिनी पार्क इसी तरह से सुंदर लगता है। यहां उपस्थित निगम के प्रतिनिधियों एवं अधिकारियों ने बताया कि इसके कांसेप्ट के लिए काफी मेहनत की गई और अनेक स्थानों का माडल ध्यान में था। लुंबिनी पार्क का भ्रमण भी अधिकारियों ने किया है और इसके तकनीकी पक्षों को जाना है। अधिकारियों ने बताया कि लगभग एक करोड़ चैवालीस लाख रुपए की राशि की स्वीकृति हुई है और इस पर काम तेजी से चल रहा है। फिलहाल पाथवे और अन्य स्ट्रक्चर का काम यहां लच रहा है।
राज्य गठन के बाद जिले के सभी शहीदों का नाम स्मारक में अंकित होगा
यह पार्क इसलिए भी महत्वपूर्ण होगा क्योंकि यह हमें जिले के शहीद जवानों की भी याद दिलाएगा। राज्य गठन के बाद जो लोग देश के लिए शहीद हुए हैं उन शहीदों के नाम इस स्मारक में अंकित होंगे। कलेक्टर ने कहा कि शहीदों की स्मृति में बनने वाला यह स्मारक गौरवशाली परंपरा की याद दिलाएगा।
सरोवर के बगल में साढ़े तीन सौ लोगों के बैठने की व्यवस्था होगी, बगल से बिछेगी घास, इस पर भी लोग बैठकर सरोवर के नजारे देख सकेंगे
इस संरचना के बगल से लोगों के बैठने के लिए सीढ़ियां भी बनाई जा रही हैं। सीढ़ी के बगल में घास भी बिछेगी। यह राजघाट स्मारक की तरह होगा। सरोवर में पानी बिल्कुल बगल से बहने वाले नाले से आएगा। यह पूरा प्रोजेक्ट लगभग 7 एकड़ जमीन में तैयार हो रहा है।
एजुकेशनल हब के मुताबिक बनेगा रीडिंग कार्नर भी
कलेक्टर ने कहा कि भिलाई बड़ा एजुकेशनल हब है। यहां भी ऐसी लाइब्रेरी होनी चाहिए जहां छात्र दिन भर सुकून से पढ़ सकें। इस दिशा में भी योजना बनाई जाएगी। उन्होंने इसके लिए भवन का चिन्हांकन करने निगम कमिश्नर को कहा। उन्होंने कहा कि पार्क में रीडिंग रूम की गुंजाइश भी हो सकती है।

Share