रानी दुर्गा वती सुन्दर, निर्भिक और साहसी थी : नीलकंठ ठाकुर

Share

नरेन्द्र तिवारी
छुरा। आज चौबिस जुन को विरांगना रानी दुर्गावती जी का बलीदान दिवस आदिवासी परिषद भवन छुरा में मनाया गया।
इस मौके पर सर्व आदिवासी समाज के प्रदेश प्रतिनिधि व वर्तमान जनपद सदस्य नीलकंठ सिंह ठाकुर,जनपद के सीईंओ एन के मांझी,परिषद अध्यक्ष कौशल ठाकुर,सरपंच संघ अध्यक्ष लेख राज ध्रुवा व केन्रदीय गोंड़ महासभा के सलाहकार अवध मलकाम के उपस्थिति मे विरांगना रानी दुर्गा वती का बलीदान दिवस मनाया गया।कोरोना के भयंकर संकट काल में भी सभी लाक डाउन के नियमों का पालन करते हुऐ आदिवासियों ने अपने समाज की विरांनगना को याद कर उनकी शहादत पर श्रद्धासुमन अर्पित कर उनके बलीदान को याद किया।कार्यक्म का संचालन समाजसेवी शीतल ध्रुव ने किया।परिषद अध्यक्ष कौशल ठाकुर ने रानी दुर्गा के जीवनी पर प्रका डाला।वही अवध मरकाम ने देश व समाज के प्रति उनकी त्याग और बलीदान से प्रेरणा लेने की बात कही।लेखराज ध्रुवा ने कहा कि वह सर्व समाज के लिऐ कार्य किया है इसलिऐ देश के सभी समाज के लिऐ सम्माननिय एवं पूजनीय है।सीईओ माँझी ने कहा कि वह आज भी सभी समाज के आदर्श व जीवंत देवी है।दया राम नागेश न समाज प्रमुख ने अपने उबोधन में कहा कि ऐसे विरांगना के बारे कहा नही जा सकता अदभूद और अद्वितिय थे। सर्व आदिवासी समाज के नेता नीलकंठ ठाकुर ने समाज और देश हित की रक्षा के लिऐ उनकी बलीदान शदियों-शदियों तक याद किये जायेंगे ।वह उस समय सुन्दर व चरित्रवान और कुशल प्रशासक थी।जिसके कारण अंग्रेज लोहा मनती थे।उन्होने अपने शासन काल में प्रजा हित में अनेक तालाब,कुआँ,और फलदार वृक्षों का बगिचा बनवाये थे।वह एक निर्भिक और साहसी रानी थी।इस बलीदान के अवसर पर जनपद सदस्य थानेश्वर कवर,संतराम नेताम,शशीमुखी नेताम,ध्रुव समाज छुरा राज अध्यक्ष शिवदर्शन ध्रुव,कौशिल्या ठाकुर, शिक्षक शिव ठाकुर,द्वारका ध्रुव,रुपनाथ,हनुमान,लीलाधर ध्रुव,भगत ध्रुव उपस्थित थे।


Share