राहत : मार्च महीने से केबल टीवी ग्राहकों को मिलेंगे 130 रुपये में 200 चैनल….दूसरे कनेक्शन का किराया भी होगा कम…

Share

नई दिल्ली। भारतीय दूरसंचार नियामक प्राधिकरण (ट्राई) ने केबल टीवी ग्राहकों को बड़ी राहत देते हुए कीमतों में बड़ी कटौती की घोषणा कर दी है। अब आगामी एक मार्च, 2020 से ग्राहकों को 130 रुपये में 200 चैनल मिलेंगे। वहीं 12 रुपये से अधिक कीमत वाले सभी पे टीवी चैनल किसी भी बुके का हिस्सा नहीं होंगे।
पहले केबल टीवी ग्राहकों को 130 रुपये में केवल 100 फ्री टू एयर चैनल मिलते थे। टैक्स मिलाकर के यह 154 रुपये के करीब बैठता है। इसमें से 26 चैनल्स केवल प्रसार भारती के होते थे। ट्राई ने नियमों को अपनी वेबसाइट पर अपलोड कर दिया है। कंपनियों को टैरिफ की जानकारी 15 जनवरी को वेबसाइट पर डालनी होगी। इसके अतिरिक्त अपने मनपसंद चैनल के देखने के लिए तय रकम का पेमेंट करना पड़ता है। सभी प्रमुख ब्रॉडकास्टर्स ने अपने पैकेज एनाउंस कर रखे हैं।
वहीं, एनएफसी इस बात पर निर्भर करता है कि यूजर्स कितने फ्री-टू-एयर चैनल्स देख रहे हैं। साथ ही ए-ला-कार्टे (अलग से चुने गए चैनल) चैनल पैक की कीमत महंगी हो गई हैं। मीडिया रिपोर्ट के आधार पर कहा जा सकता है कि ट्राई इस चैनल पैक के प्राइस को कम करने पर विचार कर रहा है, जिससे यूजर्स कम कीमत में ज्यादा चैनल देख सकें।
दूसरे कनेक्शन का किराया भी होगा कम
ट्राई ने एक ही घर या फिर ऑफिस में एक से अधिक कनेक्शन लेने पर 40 फीसदी छूट देने की बात कही है। अब केबल कंपनियों को ऐसा कनेक्शन देने पर कीमतों में कमी करनी होगी। अभी ऐसे कनेक्शन पर भी एनसीएफ पहले कनेक्शन के समान ही रहती है।
ब्रॉडकास्टर 15 जनवरी तक अपने चैनल की दरों में बदलाव करेंगे। 30 जनवरी तक दोबारा सभी चैनल की रेट लिस्ट पब्लिश होगी। 1 मार्च 2020 से नई दरें लागू होंगी। ट्राई ने चैनल के लिए कैरिज फीस 4 लाख रुपये तय की है।
कंटेंट चार्ज भी देना होगा
इस समय यूजर्स को टीवी देखने के लिए दो तरह के बिल का भुगतान करना पड़ता है, जिसमें एनसीएफ और कंटेंट चार्ज शामिल है। यूजर्स की तरफ से दिया गया कंटेंट का चार्ज ब्रॉडकास्टर के अकाउंट में जाता है, तो दूसरी तरफ एनसीएफ चार्ज डीटीएच या केबल टीवी प्रदाता को दिया जाता है। इस चार्ज में यूजर्स को 100 चैनल के लिए 153 रुपये देने पड़ते हैं।


Share