निचली बस्तियों का जायजा लेने पहुंचे कलेक्टर, निगम अधिकारियों से कहा कि जलभराव की स्थिति कहीं निर्मित न हो…

Share

-इंटकवेल में भी साफसफाई देखी
-शंकरनाला एवं शिवनाथ नदी के इंटकवेल देखने पहुंचे कलेक्टर डॉ. सर्वेश्वर नरेंद्र भूरे
दुर्ग 24 जून 2020 । दो दिन हुई लगातार बारिश के बाद दुर्ग शहर की निचली बस्तियों की स्थिति देखने आज कलेक्टर डॉ. सर्वेश्वर नरेंद्र भूरे सुबह-सुबह पहुंचे। उन्होंने शंकर नाले की सफाई का निरीक्षण किया। वे शिवनाथ नदी स्थित इंटकवेल भी पहुंचे। अधिकारियों ने बताया कि इंटकवेल की जाली में जलकुंभी फंस गई थी। उन्होंने कहा कि इसे निकालने का काम तेजी से हो, इसके लिए पर्याप्त संख्या में अमला लगाया जाए। कलेक्टर ने कहा कि बारिश की वजह से शिवनाथ नदी का जल स्तर तेजी से बढ़ रहा है। किसी भी स्थिति में नगर में पेयजल आपूर्ति बाधित न हो, इसे सुनिश्चित करें। आयुक्त श्री इंद्रजीत बर्मन ने कलेक्टर को बताया कि निगम अमले द्वारा व्यवस्था पर निरंतर नजर रखी जा रही है और बारिश के चलते निचले इलाके के लोगों को किसी तरह की दिक्कत न हो, इसके लिए ड्रेनेज सिस्टम को पुख्ता करने का कार्य निरंतर किया जा रहा है। कलेक्टर ने कहा कि शुद्ध जल की आपूर्ति सुनिश्चित कराना भी निगम का प्राथमिक दायित्व है। तेज बारिश की स्थिति में ड्रेनेज बड़ी समस्या होती है। निरंतर साफसफाई, नालों की सफाई से काफी हद तक यह समस्या सुलझाई जा सकती है। उन्होंने कहा कि यह बहुत प्राथमिकता का विषय है । यदि इस कार्य में अधिक मैनपावर लगाये जाएं तो और भी अच्छा होगा। उल्लेखनीय है कि कलेक्टर लगातार नगरीय निकायों में भ्रमण कर सफाई व्यवस्था देख रहे हैं। मंगलवार को उन्होंने कोसा नाला का निरीक्षण किया। यहां लगभग चालीस ट्रक जलकुंभी निकाली गई थी। कलेक्टर ने निगम अधिकारियों को मुकम्मल ड्रेनेज व्यवस्था रखने के निर्देश दिए हैं। इसके लिए निगम अधिकारियों द्वारा सतत मानिटरिंग की जा रही है। जलभराव वाले इलाकों पर विशेष नजर रखी जा रही है। कलेक्टर के दौरे के अवसर पर कार्यपालन अभियंता श्री सुशील बाबर, उपअभियंता श्री राजेन्द्र ढबाले, स्वास्थ्य अधिकारी श्री दुर्गेश गुप्ता एवं जलकार्य निरीक्षक श्री नारायण ठाकुर व अन्य उपस्थित थे ।


Share